40.3 C
Panipat
June 29, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Crime Haryana Haryana News India News

दो लाख रुपये का इनामी आरोपित किया काबू, पढिए खबर.

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)- पुलिस कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक प्रकरण में फरार दो लाख रुपये के इनामी आरोपित जम्मू के जिला रामबन गांव गुल निवासी मुजफ्फर अहमद खान को जम्मू से गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपित को कैथल लेकर आ रही है। शुक्रवार को अदालत में पेशकर पूछताछ के लिए रिमांड हासिल किया जाएगा। आरोपित मुजफ्फर अहमद ने प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले कर्मचारी जिला डोडा गांव सिंधरा निवासी जितेंद्र से पेपर व आंसर-की ली थी, जो आगे श्रीनगर की दूधगंगा कालोनी निवासी एजाज अमीन को दी थी।

एजाज ने प्रश्न पत्र व आंसर-की जम्मू एयरपोर्ट पर श्रीनगर के हसरत बल निवासी मोहम्मद अफजल डार को दी थी। मुजफ्फर अहमद व एजाज अमीन के बीच 60 लाख रुपये में सौदा तय हुआ था। उक्त रकम परीक्षा के बाद देनी थी। फिर आरोपित अफजल द्वारा एक करोड़ रुपये में पेपर व आंसर की पांच अगस्त को ही दिल्ली एयरपोर्ट पर आरोपित राजकुमार को दी थी। आरोपित एजाज अमीन पहले गिरफ्तार हो चुका है। आरोपित मोहम्मद अफजल डार अभी फरार चल रहा है, जिस पर पुलिस ने दो लाख का इनाम घोषित किया हुआ है। आरोपित कैथल अदालत में जमानत को लेकर याचिका भी दायर कर चुका है, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था

सीआइए टू पुलिस ने 50 हजार के इनामी आरोपित जिला भिवानी के ढाणी खुशहाल निवासी मनोहर को एक दिन पहले गिरफ्तार किया था। आरोपित चार दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहा है। आरोपित मनोहर ने हिसार के लघु सचिवालय कालोनी निवासी नरेंद्र के साथ हिसार के गांव खांड़ाखेड़ी निवासी आरोपित राजकुमार के भाई कुलदीप से उसके घर पर मुलाकात की थी। कई परीक्षार्थी भी उपलब्ध करवाए थे। इसे लेकर पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है। 50 हजार के इनामी दो आरोपित अभी तक गिरफ्तार किए जा चुके हैं, सात अभी फरार चल रहे।

प्रदेश सरकार की तरफ से सात व आठ अगस्त को पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा सात व आठ अगस्त को आयोजित की थी। छह अगस्त की शाम को ही आरोपितों ने आंसर-की लीक कर दी थी। कैथल सीआइए वन पुलिस ने इस प्रकरण में परीक्षा के दिन ही माता गेट से जींद निवासी संदीप, गौतम व कैथल के प्यौदा गांव निवासी नवीन को गिरफ्तार किया था। इन आरोपितों से पूछताछ के बाद जींद के गांव थुआ निवासी बालाजी डिफेंस एकेडमी संचालक रमेश व किच्छाना निवासी राजेश को गिरफ्तार किया था। इन आरोपितों से गिरोह के अन्य आरोपित हिसार के लघु सचिवालय निवासी नरेंद्र व इसी जिले के गांव खांड़ाखेड़ी निवासी राजकुमार उर्फ राजू को गिरफ्तार किया था। आरोपित राजकुमार ने नरेंद्र को एक करोड़ में यह आंसर-की बेची थी। नरेंद्र ने आगे रमेश को 10 लाख रुपये प्रति आंसर की बेची। रमेश ने आगे 12 से 18 लाख रुपये में बेचकर गिरोह तैयार किया। आरोपितों ने पेपर लीक की साजिश हिसार व फरीदाबाद के एक होटल में रची थी। आरोपित राजकुमार की गिरफ्तार के बाद पुलिस इस मामले में मुख्य आरोपित प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारी जितेंद्र, मैनेजर राकेश व एजाज अमीन को भी गिरफ्तार कर लिया था। अभी तक कुल 34 आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। कुल 88 आरोपितों की गिरफ्तारी होनी है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

ईएनडीसी पर बैन, न ई-सिगरेट बिकेगी, न निकोटिन फ्लेवर हुक्का, पकड़े जाने पर होगी तीन साल कैद

Voice of Panipat

वैक्सीन लगने के बाद भी सफर के दौरान नहीं है सर्टिफिकेट, तो इस नंबर के जरिए करें डाउनलोड

Voice of Panipat

बीते 24 घंटे के दौरान सामने आए सबस कम केस

Voice of Panipat