15.3 C
Panipat
January 31, 2023
Voice Of Panipat
Big Breaking News Education Haryana Haryana News

Online परीक्षा देने वाले हो जाएं सावधान, चालाकी करनी पड़ेगी महंगी.

वॉयस ऑफ पानीपत(सोनम)-पकडऩे के लिए एक साफ्टवेयर से रिमोट प्रोक्टरिंग किया जा रहा है। ऐसे में परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की अवांछित गतिविधि करने पर साफ्टवेयर परीक्षार्थी की फोटो संदिग्ध की सूची में डाल रहा है। अब इन परीक्षार्थियों की जांच कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  की गठित कमेटी करेगी। इसी जांच में परीक्षार्थी की गतिविधि अवांछित मिलने पर उसका यूएमसी बनाया जा सकता है। यही कमेटी कैमरे के आगे हटने से लेकर अन्य तरह की कई गतिविधियों को लेकर एक सीमा भी तय करेगी, जिसका उल्लंघन पाए जाने पर भी परीक्षार्थी का यूएमसी बनाया जाएगा।

गौरतलब है कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  की ओर 10 अगस्त से आनलाइन और आफलाइन माध्यम से परीक्षाएं ली जा रही हैं। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  ने इस बार आनलाइन माध्यम से घरों में बैठकर परीक्षा दे रही परीक्षार्थियों पर नजर रखने के लिए एक एजेंसी को टेंडर देकर नए साफ्टवेयर को लागू किया था। यही साफ्टवेयर के माध्यम से आनलाइन रिमोट प्रोक्टरिंग की जा रही है और परीक्षा के दौरान किसी भी तरह अवांछित गतिविधि होने पर परीक्षार्थी की फोटो संदिग्ध की सूची में डाली जा रही है। पिछले कई माह से कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को ब्लेंडेड मोड में ली जा रही परीक्षाओं के दौरान परीक्षार्थियों की ओर से नकल करने व कई तरह की चालाकी करने की शिकायतें मिल रही थी। इन शिकायतों को देखते हुए 20 परीक्षार्थियों पर एक निरीक्षक कर वाट््सएप या वीडियो काल सहित कई अन्य माध्यमों से नजर रखी जा रही थी। लेकिन प्राइवेट और दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय के परीक्षार्थियों पर नजर रखने के लिए इस तरह की व्यवस्था नहीं बन पा रही थी। ऐसे में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  ने एक निजी कंपनी को आनलाइन रिमोट प्रोक्टरिंग का टेंडर दिया था।

जानकारी के लिए बता दें कि विद्यार्थियों की ओर से जारी गाइडलाइंस के अनुसार परीक्षार्थी के बार-बार इधर उधर देखने, कैमरे के सामने से हटने, कैमरा बंद करने, कैमरे को ढकने की कोशिश करने को अवांछित गतिविधि की श्रेणी में डाला गया है। इस तरह की गतिविधि करने पर परीक्षार्थी की फोटो संदिग्धों की सूची में शामिल होगी। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  के परीक्षा नियंत्रक डा. हुकम सिंह ने बताया कि इस परीक्षा के दौरान अवांछित गतिविधि करने पर यूएमसी बनाने से पहले एक कमेटी हर गतिविधि की जांच करेगी। यही कमेटी एक समय सीमा तय करेगी कि कैमरे के सामने कितनी देर तक हटने और कितनी देर तक बार-बार इधर उधर देखने पर यूएमसी बनाया जाएगा।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

करियाना दुकान की आड़ में खोला था क्लीनिक, CM फ्लाइंग ने मारा छापा

Voice of Panipat

VIP नंबर लेने वालो के लिए खुशखबरी, हरियाणा में शुरू होने वाला है ऑक्शन, 70 हजार की स्कूटी के लिए 15 लाख रुपये का नंबर

Voice of Panipat

हरियाणा में खुलेंगे सभी मंदिर, सीएम और डिप्टी सीएम ने प्रदेशवासियों को दी जन्माष्टमी की बधाई

Voice of Panipat