20.2 C
Panipat
October 24, 2021
Voice Of Panipat
Sports

धोनी के छक्के पर झूम उठा था पूरा देश, 28 साल बाद क्रिकेट फैंस को मिली थी असली खुशी

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 40वां जन्मदिन मना रहे हैं. एक छोटे से शहर से आकर धोनी ने ना सिर्फ क्रिकेट के तमाम बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए बल्कि वह पिछले 16 सालों से फैंस के दिलों पर राज कर रहे हैं. धोनी की अगुवाई में ही भारतीय क्रिकेट फैंस को तमाम वो खुशियां मिली जो कि और कोई कप्तान देने में कामयाब नहीं हो पाया था….इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने के करीब सालभर बाद भी फैंस के प्रति धोनी का जादू कम नहीं हुआ है. उसकी वजह भी साफ है. धोनी ने 2007 में टीम की कप्तानी संभालते ही युवा खिलाड़ियों के दम पर पहला टी20 वर्ल्ड कप भारत की झोली में लाकर रख दिया. इसके बाद तो मानो इंडिया के आगे बढ़ने का सिलसिला बस शुरू ही हो गया. अगले साल 2008 में टीम इंडिया पहली बार धोनी की अगुवाई में ही टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बनने में कामयाब हुई…

इंडिया को दी सबसे बड़ी खुशी

लेकिन फैंस को अभी धोनी द्वारा असली खुशी मिलने का इंतजार था. धोनी ने फैंस को वो खुशी अपने खास अंदाज में दी. 2 अप्रैल 2011 को वानखड़े स्टेडियम में धोनी ने जैसे ही कुलशेखरा की गेंद को 6 रन के लिए बाउंड्री के पार भेजा वैसे ही पूरा देश खुशी के मारे झूम उठा. मौका बेहद ही खास था. 28 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार टीम इंडिया दोबारा से वर्ल्ड कप अपने नाम कामयाब हो गई थी. 10 साल गुजर जाने के बाद भी फैंस के मन में उस शॉट से जुड़ी हुई यादें आज तक ताजा हैं…

धोनी को हालांकि इंटरनेशनल क्रिकेट में ऐसी विदाई नहीं मिली जिसके वो हकदार थे. 2019 वनडे वर्ल्ड कप में इंडिया को सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा. धोनी उस मुकाबले मे रनआउट होकर पवेलियन लौटे और फिर उन्होंने टीम इंडिया की जर्सी दोबारा कभी नहीं पहनी…

करीब एक साल तक धोनी की टीम में वापसी के कयास लगते रहे. ऐसा माना जा रहा था कि धोनी 2020 टी20 वर्ल्ड कप में एक बार फिर से इंडिया की ओर से खेलते हुए दिखाई देंगे. लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से वर्ल्ड कप ही रद्द हो गया. धोनी ने अपने ही अंदाज में 15 अगस्त 2020 को एक वीडियो संदेश जारी कर इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया. इंटरनेशनल क्रिकेट से विदाई के मौके पर धोनी ने उन सभी खिलाड़ियों को याद किया जो टीम में उनके साथी रहे…

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

भारत की स्टार महिला पहलवान विनेश ने पोलैंड ओपन में जीता गोल्ड मेडल

Voice of Panipat

नीरज चोपड़ा वतन लौटे, 15 अगस्त के बाद Panipat आने की चर्चा

Voice of Panipat

ओलंपिक नहीं खेल पाएंगी साइना नेहवाल

Voice of Panipat