41 C
Panipat
May 29, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsCrimeHaryana NewsPanipatPanipat Crime

दिल्ली के युवक ने पानीपत में फांसी लगाकर जीवन लीला की समाप्त, पढ़िए पूरा मामला.

वायस ऑफ पानीपत(कुलवन्त सिंह)- दिल्ली के युवक ने पानीपत में फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। तीन बहनों का इकलौता भाई 15 दिन पहले ही पानीपत के मित्तल मेगा मॉल स्थित हेयर सैलून में नौकरी करने आया था। वह सुबह घर जाने की बात कहकर कमरे से निकला और आधे रास्ते से ही वापस लौट आया। रूम मेट से चाबी लेकर कमरे पर चला गया। शाम को उसका साथी कमरे पर पहुंचा तो युवक पंखे से लटका मिला। रूम मेट ने पहले पुलिस और फिर परिजनों को सूचना दी। चांदनी बाग थाना पुलिस ने 174 की कार्रवाई की है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

दिल्ली के त्रिलोकपुरी निवासी 24 वर्षीय आरुष 15 दिन पहले ही पानीपत आया था। आरुष ने पानीपत के सेक्टर-25 स्थित मित्तल मेगा मॉल में स्थित क्रॉस फिट सैलून में नौकरी शुरू की। वह अपने साथी अंबू सिंह के साथ मॉल के पीछे स्थित एक मकान में किराये पर रहता था। अंबू सिंह ने बताया कि आरुष रविवार सुबह को घर जाने की बात कहकर दिल्ली के लिए निकला था। सुबह करीब 11 बजे वह वापस आ गया। पूछने पर आरुष ने बताया कि वह घर नहीं गया और आधे रास्ते से ही वापस लौट आया है। अंबू सिंह से चाबी लेकर आरुष अपने रूम में चला गया। इसके बाद आरुष से उसकी बात नहीं हुई।

काम खत्म होने के बाद वह शाम करीब साढ़े 6 बजे रूम पर पहुंचा तो गेट खुला था। वह अंदर पहुंचा तो चादर के सहारे पंखे से आरुष का शव लटका मिला। उसने पुलिस और फिर आरुष के परिजनों को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को उतारकर सिविल अस्पताल पहुंचाया। जिसके बाद परिजन भी सिविल अस्पताल पहुंच गए। सेक्टर 11-12 पुलिस चौकी इंचार्ज ASI राजबीर ने बताया कि अभी तक आत्महत्या के कारण का पता नहीं लग पाया है। 174 की कार्रवाई की गई है। आरुष के पिता की कई साल पहले मौत हो चुकी है। आरुष तीन बहनों का इकलौता भाई था। वह 15 दिन पहले ही दिल्ली से पानीपत काम करने आया था। उसकी मौत के बाद परिवार का बुरा हाल है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

बदमाशों ने किया सिटी मॉल के रिलेशनशिप मैनेजर पर हमला, जान से मारने की दी धमकी

Voice of Panipat

बड़ा आरोप: हरियाणा मे मिलावटी डीजल व पेट्रोल की अवैध बिक्री बढ़ी

Voice of Panipat

मुहर्रम जुलूस निकालने का आदेश पारित करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

Voice of Panipat