19.9 C
Panipat
January 27, 2023
Voice Of Panipat
Big Breaking News Covid-19 Updated Panipat COVID-19

पानीपत के लिए सुकून की खबर, दो दिन से कोरोना से एक भी मौत नहीं

वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर दम तोड़ रही है। जिला वासियों के लिए सुकून की बात यह कि दो दिन में किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। 11 नए मरीज मिले हैं तो तीन गुना अधिक 34 रिकवर भी हुए हैं। उधर, ब्लैक फंगस का भी एक मरीज मिला है। कोविड-19 के जिला नोडल अधिकारी डा. सुनील ने बताया कि रविवार को वजीरपुर, शक्तिनगर, मालपुर, समालखा, सेक्टर-11, गांव अहर, थर्मल कालोनी, राज ओवरसीज, राम नगर, सेक्टर-24 और किला एरिया में एक-एक केस मिले हैं। किसी मरीज की मृत्यु नहीं हुई है। कालांतर में दूसरे जिले में हुई पानीपत वासी एक मरीज को अपने यहां जाेड़ा गया है। पानीपत में अब तक 30 हजार 933 पाजिटिव केसों में से 30 हजार 06 रिकवर हो चुके हैं। 28 मरीजों से संपर्क नहीं हो सका है। 329 केस एक्टिव हैं और 570 मरीज दम तोड़ चुके हैं।

को-वैक्सीन लगवा चुके लाभार्थियों को दूसरी डोज चार सप्ताह के बाद और छह सप्ताह से पहले लगनी है। कोविशील्ड की दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के बीच लगेगी। इसी कड़ी में स्वास्थ्य विभाग ने को-वैक्सीन लगवा चुके 18 से 44 साल आयु के लोगों को दूसरी डोज देनी शुरू कर दी है। वेक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि 18 से 44 साल आयु वर्ग के 54 हजार 786 लाभार्थी पहला टीका लगवा चुके हैं। इस वर्ग का टीकाकरण दो मई से प्रारंभ हुआ था। समय अवधि पूरा करने वाले 15 लाभार्थियों को दूसरी डोज रविवार को लगी है, जबकि 426 ने पहली डोज लगवाई। 45 से 59 साल आयु वर्ग में 51 और 60 साल या इससे अधिक आयु के 19 लाभार्थियों को पहला-दूसरा टीका लगाया गया। यानि, 553 लाभार्थियों ने कोरोना वैक्सीन की डोज लगवाई है। डा. पासी के मुताबिक सोमवार को 45 प्लस आयु वर्ग के लाभार्थियों को 15 से अधिक केंद्रों में पहली-दूसरी डोज लगेगी। 18 से 44 साल आयु वर्ग के लिए डोज की कमी है। जिन केंद्रों में स्टाक बचा है, वहीं टीका लगेगा।

TEAM VOICE OF PANIPAT 

Related posts

कार और बस की हुई टक्कर, 6 लोग घायल, मचा हड़कंप

Voice of Panipat

हरियाणा सरकार फिल्मों की शूटिंग के लिए देगी ऑनलाइन मंजूरी, मानने होंगे यह नियम

Voice of Panipat

गोली मारकर युवक की कर दी हत्या, एक ही परिवार से है आरोपी व मृतक, पढिए पूरा मामाल

Voice of Panipat