36.5 C
Panipat
August 13, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Haryana Panipat

कुछ दिन पहले हुआ अपहरण, जान-बचाकर किशोर पहुंचा पानीपत, केस दर्ज

वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- पानीपत की जसबीर कॉलोनी से सुबह करीब 11 बजे कक्षा आठवीं में पढ़ने वाले 12 वर्षीय किशोर का अपहरण हो गया था। अपहरणकर्ता किशोर को दिल्ली ले गया, जहां से वह किसी तरह जान बचाकर मंगलवार की रात 10 बजे पानीपत लौट आया। फिलहाल चाइल्ड वेलफेयर कमेटी उसकी काउंसलिंग कर रही है।

नूरवाला स्थित जसबीर कॉलोनी निवासी पिता अलीजान ने बताया कि वह ई-रिक्शा चलाता है। उसके तीन बच्चे है। बड़ा बेटा 12 वर्षीय सादिक सोमवार की सुबह साढ़े 10 बजे घर आया और खाना खाने के बाद 11 बजे घर से निकल गया। इसके बाद नहीं लौटा। किला थाना पुलिस ने अपहरण की शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। मंगलवार सुबह उनके पास एक कॉल आया, लेकिन हेलो कहने के बाद कट गया। इस बारे में पुलिस को बताया, लेकिन फोन बंद मिला। मंगलवार की रात पानीपत रेलवे स्टेशन पर खोजने के दौरान बेटा वहां मिला।

किशोर ने पिता को बताया कि एक युवक उसे ट्रेन के जरिए पानीपत से दिल्ली और दिल्ली से शाहबाद स्थित एक बंद कमरे में लेकर गया था। जहां एक रात रखा। मंगलवार की शाम पांच बजे कमरे में कोई नहीं होने पर वह किसी तरह चंगुल से निकलकर भागा। दिल्ली रेलवे स्टेशन आया और ट्रेन में बैठकर पानीपत आ गया। किशोर ने पिता को बताया कि उसने युवक को फोन पर बात करते सुना था कि वे और भी बच्चों का अपहरण करने वाले हैं।

घर से निकलने ही उसके साथ एक युवक चलने लगा। तभी अचानक बेहोश हो गया। होश आया तो पानीपत रेलवे स्टेशन पर था। फिर उसे दिल्ली की ट्रेन में बैठाया गया। युवक ने फिर एक रुमाल निकालकर सुंघाया और बेहोश कर दिया। अब होश आने पर दिल्ली रेलवे स्टेशन पर था। युवक ने कहा कि चप्पल की फैक्टरी में काम करेगा, जहां 500 रुपये मिलेंगे। इसके बाद उसे रात आठ बजे उसे शाहबाद रेलवे स्टेशन के पास एक कमरे में ले जाया गया। जहां उसे फिर बेहोश कर दिया गया। मंगलवार सुबह सात बजे होश आया। खाना खिलाने के बाद कोल्ड ड्रिंक पिलाई, जिससे वह फिर बेहोश हो गया। जिसके बाद शाम पांच बजे होश आया, तब कमरे में कोई नहीं था और वह भागने में कामयाब हो गया।

किशोर ने बताया कि अपहरणकर्ता के पास चार-पांच फोन थे। एक फोन उसके हाथ लग गया था और मौका पाकर उसने बुआ के लड़के सोनू का कॉल किया था, लेकिन हेलो करते ही अपहरणकर्ता को आवाज सुनाई दी, जिस पर उसने कॉल काट दिया था। किशोर ने बताया कि आरोपी किसी से फोन पर कह रहा था, इस बार दशहरे पर तीन तुम और दो बच्चे मैं लेकर आऊंगा।

किशोर के पिता ने कहा कि बेटा मिलते ही पुलिस को सूचना दे दी थी। बेट ने जो भी बताया, उसे पुलिस को बता दिया था। पुलिस से आरोपी युवक को पकड़ने की बात कही, लेकिन गंभीरत से नहीं लिया गया। अगर पुलिस साथ चले तो बेटा आरोपियों के ठिकाने बताने को तैयार है। परिजनों की शिकायत पर अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर बच्चे की तलाश शुरू कर दी थी, मंगलवार रात उसे बरामद कर लिया गया । वीरवार को सीडब्ल्यूसी से काउंसलिंग कराई जाएंगी। जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

मोबाईल स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देने वाला युवक काबू, मोबाईल व बाईक बरामद

Voice of Panipat

दोस्तों को 7 लाख की सुपारी देकर करावाई अपने ही पिता की हत्या, आरोपी लगे पुलिस के हाथ

Voice of Panipat

लूट का आरोपी गिरफ्तार, लूट की बुलेट बाईक सहित तीन अन्य बाईक बरामद

Voice of Panipat