33.4 C
Panipat
May 28, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsCrimeHaryana NewsIndia CrimesIndia News

रिटायर्ड अधिकारी की हत्या के चार आरोपियों को किया गिरफ्तार, पढिये क्या है पूरा मामला.

वायस ऑफ पानीपत(देवेंद्र शर्मा)- फुटओवर ब्रिज के डिजाइन को लेकर चल रहा था विवाद। जयपुर में NHAI के रिटायर्ड अधिकारी की हत्या का खुलासा करते हुए चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कंपनी के ही ठेकेदारों से 14 फुटओवर ब्रिज के डिजाइन को लेकर विवाद चल रहा था। हरियाणा से 15 लाख रुपए में शूटर बुलाकर हत्या करवाई गई थी। दैनिक भास्कर ने हत्या के दिन ही ठेकेदारों से विवाद और हरियाणा के शूटरों से हत्या किए जाने की बात प्रमुखता से कही थी।

पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि करणदीप श्योराण (29) निवासी साकेत कालोनी हिसार हाल किराएदार गुरुग्राम, नवीन बिस्ला (31) निवासी गांव उरलाना पानीपत हरियाणा, विकास (33) निवासी हिसार सिटी हाल किराएदार गुरुग्राम, अमित नेहरा (26) निवासी आलमपुर भिवानी हरियाणा हाल किराए गोल्फ सेक्टर 65 गुरुग्राम हरियाणा को गिरफ्तार किया है। 26 अगस्त को आरके चावला निवासी फरीदाबाद हरियाणा जयपुर में प्रोग्रेस मीटिंग में शामिल होने के लिए आए थे। मीटिंग के बाहर निकलते ही दो युवकों ने फायर कर हत्या कर दी। दोनों फरार हो गए। भागने के बाद पुलिस ने 500 से अधिक सीसीटीवी फुटेज खंगाले। काले रंग की फाच्यूर्नर में भागते हुए दिखाई दिए। उनकी पहचान नहीं हो सकी। तब पुलिस ने कंपनी के ठेकेदारों और कर्मचारियों से ही पूछताछ शुरू की।

गिरफ्तार करणदीप मुख्य आरोपी है। मैसर्स ई 5 इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी का मालिक है। विकास देवंदा और नवीन दोनों ही इंजीनियर है। ये करणदीप की कंपनी में काम करते हैं। इन्होंने आपस में ही बातचीत की। योजना बनाई कि आरके चावला कंपनी के कार्यों में काफी परेशान कर रहा है। इसको सबक सिखाना होगा। तब 15 लाख रुपए में दो शूटर को सुपारी दी गई। मीटिंग में विकास और नवीन शामिल होने आए थे। ये दोनों शूटर को गुरुग्राम से साथ लेकर आए। पहले ही बाहर आकर चावला को दिखा दिया। बाहर निकलते ही दोनों ने आरके चावला को मार दिया। बाद में विकास और नवीन ने गुरुग्राम पहुंच कर करणदीप को पूरी बात बताई। पुलिस शूटर की तलाश कर रही है।

गुरुग्राम से जयपुर तक 14 फुटओवर ब्रिज 35 करोड़ रुपए में बनने थे। इसका टेंडर करणदीप की कंपनी को मिला था। कंपनी ने समय पर प्रोजेक्ट पूरा नहीं किया। कंपनी पर 3.5 करोड़ की पेनल्टी लगा दी गई। करणदीप ने प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए समय मांगा था। इसीलिए जयपुर में मीटिंग का आयोजन किया गया था। इस मीटिंग में कंपनी के कर्मचारी, आरके चावला और NHAI हरीसिंह मौजूद थे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

PANIPAT में डाकघर कर्मचारी का 2 दिन बाद जंगलों में मिला शव

Voice of Panipat

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय का बड़ा फैसला, अब हिंदी में भी परीक्षा दे सकेंगे Law के विद्यार्थी

Voice of Panipat

हरियाणा में गरीब बच्चो की पढ़ाई के लिये सरकार ने लिया फैसला, शहरी-ग्रामीण स्कूलों को मिलेगा समान लाभ

Voice of Panipat