35.5 C
Panipat
June 27, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Crime Haryana Crime Haryana News India Crimes India News

फांसी के फंदे पर लटका किसान, 50 हजार रूपये का था लोन

वायस ऑफ पानीपत(देवेंद्र शर्मा)- अछल्दा थाना क्षेत्र के गांव सलेमपुर के बाहर नीम के पेड़ पर रस्सी के सहारे फांसी के फंदे पर किसान का शव लटका देखकर ग्रामीणों में अफरा तफरी मच गई। पुलिस ने गांव पहुंचकर छानबीन की तो सामने आया कि बैंक का नोटिस मिलने के बाद उसने फांसी लगाकर खुदकशी की है। उसने किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत बैंक से पचास हजार रुपये का लोन लिया था, जिसपर छह सितंबर को नोटिस जारी हुआ था। घरवालों ने नोटिस मिलने के बाद किसान के मानसिक तनाव में होने की बात कही है।

अच्छलदा थाना क्षेत्र के सलेमपुर गांव निवासी 39 वर्षीय सुखराम भदौरिया ने वर्ष 2020 में सेंट्रल बैंक आफ इंडिया से करीब 50 हजार रुपये का लोन लिया था। स्वजन ने पुलिस को बताया कि लोन अदा न करने के कारण बैंक से दो दिन पहले छह सितंबर को नोटिस जारी किया गया था। नोटिस मिलने के बाद से सुखराम ज्यादा परेशान था। करीब तीन बीघा खेती के सहारे पूरा परिवार है। पुत्र योगेंद्र सिंह ने पुलिस को बताया कि बैंक की अछल्दा शाखा से पिता ने किसान क्रेडिट योजना के तहत लोन लिया था। उन्होंने एक फाइनेंस कंपनी में रुपये जमा किए थे लेकिन वह नहीं मिल रहे थे। खेती और घर के लिए रुपयों की जरूरत थी तो पिता ने बैंक से लोन लिया था। बुधवार की सुबह घर से वह रोज की तरह खेतों की ओर गये थे। काफी देर तक घर न लौटने पर चिंता हुई, इस बीच ग्रामीणों ने गांव के बाहर खेत में नीम के पेड़ पर उनका शव फांसी के फंदे पर लटका होने की जानकारी दी।

ग्रामीणों की सूचना के आधार पर क्षेत्राधिकारी मुकेश प्रताप सिंह व थाना प्रभारी तारिक खान सहित फोरेंसिक टीम गांव पहुंची थी। थानाध्यक्ष तारिक खान ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। स्वजन का कहना है कि लोन न चुका पाने की वजह से यह कदम सुखराम ने उठाया। फिलहाल, पूरे मामले की जांच की जा रही है। वहीं, मृतक की पत्नी ललिता देवी सहित उसके बेटे योगेंद्र व पुत्री ज्योति का रो-रो कर हाल बेहाल है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

चोरी करने वाले 2 आरोपित काबू, 1 बाइक, 1 एक्टीवा, 7 मोबाइल, एक गैस सिलेंण्डर व चांदी के जैवरात बरामद

Voice of Panipat

दिल्ली में बंद हो रही शराब की दुकानों ! जानिए शटरडाउन होने की बड़ी वजह

Voice of Panipat

शर्मसार, ड्राइवर-कंडक्टर को पहनाई जूतों की माला, रोडवेज की हड़ताल में नहीं हुए शामिल

Voice of Panipat