41 C
Panipat
May 29, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsCrimeHaryanaHaryana CrimeHaryana News

तीसरे दिन मिला मृतका का शव, परिजनों का कहना- दहेज के लिए करते थे परेशान.

वायस ऑफ पानीपत(देवेंद्र शर्मा)- हरियाणा में फतेहाबाद जिले के गांव सनियाना के पास भाखड़ा नहर में कार गिराकर पत्नी व बेटे की हत्या के मामले में तीसरे दिन मृतका सुमन का शव बरामद हुआ है। सुमन का शव सोमवार सुबह 6 बजे घटना से करीबन 35 किलोमीटर दूर नहर से बरामद हुआ। शव नहर में लगे पाइप में अटका हुआ था। पुलिस ने शव को निकालकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया है। इससे पहले नहर से मृतका के ढाई साल के बच्चे का शव बरामद हुआ था। भूना पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए मृतका के पति मनोज सोनी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। हालांकि कार मालिक एवं चालक मनोज सोनी कहना है कि उसे नींद की झपकी आई, जिसकी वजह से कार अनकंट्रोल होकर नहर में जा गिरी थी। जबकि मृतका सुमन के पिता का आरोप है कि यह हत्या है, जिसे मनोज व उसके परिवार ने पूरी प्लानिंग के साथ अंजाम दिया है। ससुराली सुमन को दहेज के लिए तंग करते थे। मासूम बच्चे पर भी दया नहीं आई।

भूना की अफसर कॉलोनी निवासी मनोज सोनी ने बताया कि शनिवार रात करीब 8 बजे वह अपनी ससुराल नरवाना गया था। चूंकि भूना में उसके मकान में निर्माण कार्य चल रहा है। इसलिए रात को ही खाना खाकर वह पत्नी और बेटे को लेकर घर के लिए चल पड़ा। उसके दो बच्चे घर पर ही थे। मकान निर्माण को लेकर वह अपने ससुर धर्मपाल सोनी से एक लाख रुपए की राशि भी लेकर आया था। नरवाना से चलते ही अगली सीट पर बैठी सुमन गहरी नींद में सो गई थी और बेटा उसके पेट पर लेटा हुआ था।

करीब 10 साढ़े बजे जैसे ही उनकी कार सनियाना गांव में भाखड़ा नहर के निकट पहुंची तो उसे नींद की झपकी आ गई। जिसके कारण कार अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी। मृतका सुमन के पिता नरवाना वासी धर्मपाल सोनी ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि उसकी बेटी की शादी वर्ष 2011 में भूना निवासी ओमप्रकाश के बेटे मनोज सोनी के साथ हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद से ही उसकी बेटी को ससुरालजनों द्वारा प्रताड़ित करना शुरू कर दिया गया था। सुमन को तंग करने व मारपीट को लेकर रिश्तेदारी स्तर पर कई बार ससुरालजनों को समझाया गया था। इसके बावजूद सुमन की सास सुशीला, देवर राहुल, ससुर ओम प्रकाश व पति मनोज सोनी उसे प्रताड़ित करते थे। उन्होंने बताया कि दामाद शनिवार की रात को घर बनाने के नाम पर एक लाख रुपए नकद लेकर गया था। लेकिन रास्ते में उसने बेटी को एक योजनाबद्ध तरीके से एक्सीडेंट का रूप देकर मौत के घाट उतार दिया। यह हादसा नहीं हत्या है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

पानीपत में 21 को आयोजित होने वाली शोभा यात्रा में ऑटो निभाएंगे आवागमन की जिम्मेदारी

Voice of Panipat

Breaking:- पानीपत में 12वीं तक बंद रहेंगे सभी स्कूल, आदेश हुआ जारी

Voice of Panipat

अवैध देशी पिस्तौल बेचने वाले दूसरे आरोपित को CIA-3 ने किया गिरफ्तार

Voice of Panipat