38.7 C
Panipat
June 14, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsCrimeHaryanaHaryana CrimeHaryana News

बैंककर्मी बनकर किसान से ठगे 1.63 लाख रूपये, ऐसे दिया ठगी की वारदात को अंजाम

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)- साइबर ठगों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। आमजन इन साइबर ठगों का शिकार होते रहते हैं। साइबर ठग इन दिनों ऐनी डेस्क ऐप इस्तेमाल करके लोगों को ठगने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। पिछले करीब 20 दिनों में इस ऐप के माध्यम से ठगी की 10 वारदातों को अंजाम दिया जा चुका है। ठगी के शिकार हुए 10 में से 8 किसान हैं। ताजा मामला हरियाणा के रोहतक जिले के कलानौर का है जहां के निवासी एक किसान को ठगों ने अपना निशाना बनाया है।

बता दें कि ठगों ने बैंककर्मी बनकर मदद करने के नाम पर ऐप डाउनलोड करवाई और खाते से 1.63 लाख रुपए निकाल लिए, जिसके बारे में पीड़ित को दो दिन बाद बैंक स्टेटमेंट देखकर पता लगा। मामले की शिकायत पुलिस को दी गई कलानौर थाना पुलिस को दी शिकायत में पीडित अमित कुमार ने बताया कि वह गांव बलंभा का रहने वाला है। वह खेती-बाड़ी करता है। उसका कलानौर स्थित एसबीआई ब्रांच में बैंक अकाउंट है। 7 दिसंबर को उसके मोबाइल पर एक फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को बैंककर्मी बताया। इसके बाद उसने कहा कि आपके खाते के रुपए होल्ड हो चुके हैं। अब आपके खाते में न रुपए डाले जा सकते हैं और न ही खाते से रुपए निकाले जा सकते हैं। इतना ही नहीं, कथित बैंककर्मी ने यह भी चेताया कि अगर इस होल्ड प्रक्रिया को जल्द ठीक न किया गया तो रुपए ब्लॉक हो जाएंगे और फिर कभी नहीं निकाले जा सकेंगे।

पीडित ने बताया कि ये सुनने के बाद डर गया और डर की वजह से उसने ठग से पूछा कि आखिर इसका उपाय क्या है। किस तरह से यह होल्ड की प्रक्रिया दूर होगी। ठग प्रक्रिया को काफी लंबे तरीके से बताना लगा। फिर आखिर में ठग ने कहा कि वैसे तो उसके पास समय नहीं है, मगर तुम जरुरतमंद लग रहे हो, इसलिए वह उसकी मदद कर देगा। उसने अमित को कहा कि वह फोन पर बातचीत के दौरान ही उसकी समस्या का हल कर देगा। इसके लिए वह एनी डेस्क एप्लीकेशन डाउनलोड कर ले। अमित ठग की बातों में आ गया और उसने ऐप डाउनलोड कर ली। ऐप डाउनलोड करने के बाद ठग ने अमित के मोबाइल फोन को अपने कंट्रोल में ले लिया। कुछ ही सेकेंड बाद उसने अमित को कहा कि हमने होल्ड प्रक्रिया को ठीक कर दिया है। 24 घंटे बाद खाते पर लगी होल्ड प्रक्रिया हट जाएगी।

15 दिसंबर को अमित ने अपने खाते की स्टेटमेंट चेक की, जिसमें पता लगा कि उसके खाते से 1 लाख 63 हजार 350 रुपए की निकासी हो गई है। अमित का कहना है कि उसके पास राशि निकासी का कोई मैसेज, ओटीपी कुछ भी नहीं आया। खाते से रुपए निकले जाने पर उसे कुछ भी पता नहीं लगा। फिलहाल पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

गीता विदया मंदिर स्कूल दवारा आयोजित स्कोलरशिप टेस्ट में उतीर्ण हुए बच्चों ने शुरू किया अपना आनलाइन शिक्षण

Voice of Panipat

पानीपत में मिले कोरोना पॉजीटिव केसो मेंं सबसे ज्यादा मॉडल टाउन के

Voice of Panipat

नीरज चोपड़ा को सफल बनाने के लिए इन कोचों ने भी की कड़ी मेहनत

Voice of Panipat