20.2 C
Panipat
October 24, 2021
Voice Of Panipat
Big Breaking News Crime Haryana Haryana Crime Haryana News

रोहतक में चार हत्‍याओं का हुआ पर्दाफाश, बेटा ही निकला हथियारा, पढिये पूरा मामला.

वायस ऑफ पानीपत(कुलवन्त सिंह)- विजय नगर में 27 अगस्त को हुए चौहरे हत्याकांड में 19 वर्षीय बेटा ही हत्यारा निकला है। बेटे ने ही पिता, मां, बहन और नानी की सिर में गोली मारकर हत्या की थी। पुलिस ने बुधवार सुबह इस वारदात का पर्दाफाश कर आरोपित को हिरासत में ले लिया है। हालांकि पुलिस ने अभी हत्या के कारणों को उजागर नहीं किया है। इससे पहले आरोपित से वारदात स्थल की निशानदेही करवाई जाएगी और हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद किया जाएगा। वारदात के दिन ही बेटे पर वारदात को अंजाम देने का अंदेशा जताया था। रोहतक एसपी राहुल शर्मा ने प्रेसवार्ता करते हुए कहा कि चौहरे हत्याकांड में आरोपित अभिषेक ही पाया गया है। उसने ही अपनी मां, पिता, बहन और नानी की हत्या की है। हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

जानकारी के लिए बता दें कि विजय कालोनी के रहने वाले प्रापर्टी डीलर प्रदीप उर्फ बब्लू पहलवान, उसकी पत्नी बबली और सांपला निवासी सास रोशनी की 27 अगस्त को घर में घुसकर दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गोली लगने से घायल उसकी बेटी तमन्ना उर्फ नेहा की रविवार सुबह पीजीआइएमएस में मौत हो गई थी। इस मामले में प्रापर्टी डीलर के साले प्रवीण की तरफ से अज्ञात आरोपितों के खिलाफ शिवाजी कालोनी थाने में मामला दर्ज कराया गया था। पुलिस के शक की सुई तभी से नजदीकियों पर घूम रही है। बता दें कि इस वारदात में प्रदीप के 19 वर्षीय बेटे अभिषेक बच गया था। उसके बचने के पीछे कारण बताया जा रहा था कि वह कोचिंग के लिए गया था। अभिषेक ने पुलिस को बताया कि जब वह अपने घर पहुंचा तो मेन दरवाजा अंदर से लाक था। काफी देर तक आवाज दी, जब कोई दरवाजा खोलने के लिए बाहर नहीं आया तो उसे किसी अनहोनी का डर सताया। आसपड़ोस के लोग भी एकत्रित हो गए और पड़ोसी के मकान से सीढ़ी लगाकर घर की छत पर पहुंचा। पहली मंजिल पर बने कमरे के दरवाजे के नीचे से खून बह रहा था। उसने शोर मचाया तो उसके चाचा नान्हा के परिवार के लोग पहुंचे और कमरे का सेंटसल लाक तोड़ा तो वहां खून से लथपड़ तमन्ना तड़प रही थी। उसकी मां बबली और नानी जमीन पर मृत पड़ी थीं। नीचे वाले कमरे में पिता प्रदीप का शव पड़ा था।

पुलिस ने इस वारदात के बाद उसके मकान, आसपास के मकानों व गली में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच करवाई, लेकिन कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा। इससे पहले ही दिन पुलिस को आभास हो गया था कि नजदीकी ही इस वारदात के पीछे है। अभिषेक पुलिस के सामने बार-बार बयान भी बदल रहा था। धीरे-धीरे पुलिस ने उससे पूछताछ का दायरा बढ़ाया तो हकीकत सामने आना शुरू हो गई। पुलिस ने मंगलवार देर रात अभिषेक को हिरासत में ले लेकर वारदात को खुलासा बुधवार सुबह कर दिया है। अभिषेक की उम्र 19 वर्षीय है और शहर के ही एक कालेज में बीकाम की पढ़ाई कर रहा है। पढ़ाई के साथ-साथ दिल्ली में केबिन क्रू का भी कोर्स कर रहा है। पुलिस ने अभिषेक पर वारदात के दिन से ही नजर बनानी शुरू कर दी थी। वारदात के बाद उसे फ्री भी छोड़ा ताकि उसकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सकी। अभिषेक की गतिविधियां पुलिस से दूर होते ही संदिग्ध हो गई थी।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

हाथरस कांड के बाद महिला सुरक्षा पर गृह मंत्रालय की एडवाइजरी, FIR दर्ज करना अनिवार्य

Voice of Panipat

करनाल लाठीचार्ज मामले पर गरमाई सियासत, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पहुंची बसताडा टोल.

Voice of Panipat

साइकिल का तमाशा देखने गए युवक से मारपीट के बाद युवकों ने घेरकर मारा चाकू.

Voice of Panipat