8.5 C
Panipat
January 27, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Haryana Haryana News Haryana Politics

86 की उम्र में 10वीं कक्षा के इस विषय की परीक्षा देने पहुंचे पूर्व सीएम ओपी चौटाला, ये है वजह

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की एक दिवसीय परीक्षा 10वीं 12वीं कक्षा की परीक्षा आज हो रही है। इसमें 80 परीक्षा केंद्रों पर 15 हजार 554 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठे हैं। मगर इसमें खास बात ये है कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला भी 10वीं कक्षा के अंग्रेजी विषय की परीक्षा देने पहुंचे हैं। सिरसा में वे परीक्षा देने अपने सेंटर पर समय पर पहुंचे। मगर करीब 86 साल की उम्र में वे 10वीं कक्षा की परीक्षा क्‍यों दे रहे हैं, यह सवाल सभी के मन में है। हालांकि, वो 12वीं कक्षा में भी पास हो चुके हैं। एक नियम के कारण उन्‍हें परीक्षा देनी पड़ रही है। वहीं, भिवानी जिले में परीक्षा केंद्रों की बात करें तो तीन परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं और इनमें 674 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा दोपहर बाद दो बजे शुरू हुई है। परीक्षा को नकल रहित बनाने के लिए शिक्षा बोर्ड ने पूरी तैयारी की है।

पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला सिरसा-2 के आर्य गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल आर्य समाज रोड सिरसा में परीक्षा दे रहे हैं। वे अंग्रेजी विषय की परीक्षा दे रहे हैं। लिखने में असमर्थ होने पर शिक्षा बोर्ड ने उनको राइटर लेने की अनुमति दी है। वे पहुंच चुके हैं। इस दौरान कई बड़े मीडिया चैनल भी मौजूद रहे। पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला से पत्रकारों ने बातचीत करना चाहा उन्होंने यह कहते हुए मना कर दिया कि मैं तो परीक्षा देने आया हूं।

पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला का बारहवीं कक्षा का ओपन बोर्ड ने परीक्षा परिणाम रोक लिया गया था। ओपी चौटाला ने इससे पहले दसवीं कक्षा की नेशनल ओपन स्कूल के माध्‍यम से परीक्षा दी थी, जिसमें वे अंग्रेजी विषय पास नहीं कर पाए। इसलिए भिवानी ओपन बोर्ड ने उनकी 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम रोक लिया। ओपी चौटाला समेत कुल 6 विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम रोका गया, जबकि नेशनल ओपन स्कूल में दसवीं में अंग्रेजी विषय पास करने की शर्त ना होने की कारण उन्‍होंने अंग्रेजी विषय की परीक्षा पास नहीं की थी, मगर भिवानी ओपन बोर्ड में 12वीं कक्षा की परीक्षा देने पर परिणाम तालिका तभी मिलती है, जब दसवीं कक्षा के विषयों में अभ्‍यर्थी पास हो। ऐसे में इस मामले में पेंच फंस गया।

शिक्षा बोर्ड अधिकारियों के अनुसार 10वीं और 12वीं के परीक्षार्थियों के लिए जिनके एक विषय में कंपार्टमेंट हैं, रि अपीयर है और जिनको एक विषय में मर्सी चांस दिया गया है उनको एक दिन की परीक्षा का अवसर दिया गया है। जींद और कैथल में सबसे अधिक 9-9 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। प्रदेश में सबसे ज्यादा परीक्षार्थी जींद परीक्षा केंद्रों पर एक हजार 979 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इसके अलावा कैथल में नौ परीक्षा केंद्रों पर 1886 परीक्षार्थी बैठेंगे। सबसे कम परीक्षा केंद्रों और बच्चों की बात करें तो गुरुग्राम, रेवाड़ी और चरखी दादरी में एक-एक परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इस एक दिनी परीक्षा में सबसे कम गुरुग्राम परीक्षा केंद्र पर करीब 166 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड चेयरमैन डा. जगबीर सिंह ने बताया कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 10वीं 12वीं की कंपार्टमेंट मर्सी चांस आदि के लिए बुधवार की एक दिवसीय परीक्षा के सफल संचालन और इसे नकल रहित बनाने के लिए शिक्षा बोर्ड ने पूरी तैयारी की है। 19 अगस्त से तीन सितंबर तक पूरक परीक्षा होंगी। उनके सफल संचालन के लिए भी पूरे और ठोस प्रबंध किए गए हैं।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

हरियाणा में निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसद आरक्षण पर फंसा पेंच, विधानसभा में आएगा बिल

Voice of Panipat

भूखों का पेट भरने वाले पद्मश्री लंगर बाबा का हुआ निधन

Voice of Panipat

दर्दनाक हादसा- स्कूल से घर जा रहे बच्चों से भरा ऑटो पलटा, 1 की हालत गंभीर व अन्य घायल

Voice of Panipat