11.8 C
Panipat
January 21, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Covid-19 Updated Haryana Haryana News Panipat Panipat COVID-19

14वें नंबर पर रहा पानीपत, जानिए कितने लाख लोग लगवा चुके वैक्सीनेशन की दोनो डोज़.

वॉयस ऑफ पानीपत(कुलवन्त सिंह)- पानीपत वैक्सीनेशन में प्रदेश में 14वें नंबर पर है। जुलाई में कई दिन बहुत कम वैक्सीनेशन होने के कारण भी हम टीकाकरण की दौड़ में पीछे हैं। हालांकि बीते दिनों मात्र 3 दिन में ही 30 हजार के करीब लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी। 203 दिनो में यानि 16 जनवरी से जिले के 3 लाख 35 हजार 382 लोगो को सिंगल डोज लगी है। जबकि 175 दिनो में यानि 13 फरवरी से 94 हजार 491 लोगो को डबल डोज दी गई। जिले में अभी भी 4 लाख 73 हजार 478 लाभार्थियो को पहली और 7 लाख 14 हजार 369 को दूसरी डोज लगना बाकी है। अगस्त के 6 दिनो में कुल 27 हजार 23 लोगों को टीके लगे हैं। 6 दिनो में 15 हजार 981 लोगो को पहली और 11 हजार 362 को दूसरी डाेज लगी है। यानी 2 हजार 663 की औसत से पहली और 1 हजार 863 की औसत से दूसरी डोज लग रही है। अगर सरकार की डोज लगाने की यही औसत रही तो पहली डोज लगवाने से वंचित 4 लाख 73 हजार 478 लोगो को सिंगल डाेज देने में 177 दिन और लग जाएंगे।

वहीं 7 लाख 14 हजार 369 को दूसरी डोज लगना बाकी ही रहेगा, इनको कवर करने में 378 दिन लग जाएंगे। यानी अगले साल 18 अगस्त 2022 तक जिले में 18 प्लस आबादी का वैक्सीनेशन पूरा हो पाएगा। शुक्रवार को भी जिले में सिर्फ 1230 लोगो को टीका लग पाया है। बड़े शहरों की तर्ज पर पानीपत में भी वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज करनी होगी, ताकि भविष्य में संक्रमण पर काबू पाया जा सके। देश के बड़े-बड़े वैज्ञानिक कह चुके हैं कि तीसरी लहर अब नजदीक है। वहीं पीएम नरेंद्र मोयदी भी कह चुके हैं कि अगले 100 से 120 दिन हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने टार्गेट दिया है कि तीसरी लहर को आने ही नहीं देना है। कोरोना को रोकने में सबसे महत्वपूर्ण वैक्सीनेशन है। लेकिन जिले में वैक्सीनेशन कछुआ रफ्तार से चल रहा है। अगले 100 दिनो में विभाग 4173 की औसत से पहली डोज दे तो बचे हुए लाभार्थियो को कवर किया जा सकता है। लेकिन उसके लिए वैक्सीन चाहिए, जिसका जिले में हर तीसरे दिन टोटा हो रहा है। ऐसे में सरकार को पानीपत की ओर ध्यान देना पड़ेगा।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

रोहतक में कोरोना वायरस की पॉजिटिव मिली महिला पानीपत के संक्रमित मरीज के घर पर करती थी काम

Voice of Panipat

1 जून से जीमेल से जुड़े नियमों से लेकर बैंक और गैस सिलेंडर में बड़ा बदलाव

Voice of Panipat

दर्दनाक हादसा- तेज रफ्तार वाहन ने ली महिला की जान, हुई मौत

Voice of Panipat