10.7 C
Panipat
January 28, 2022
Voice Of Panipat
Big Breaking News Haryana Haryana News Haryana Politics

अमरिंदर के जवाब पर भारी पड़ रहे मनोहर के सवाल.

वायस ऑफ पानीपत(देवेंद्र शर्मा)- कौन किसान हितैषी इस पर हरियाणा और पंजाब के मुख्‍यमंत्री आमने-सामने हैं। मनोहरलाल और कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के बीच इसको लेकर ‘जंग’ सी छिड़ी हुई है। किसानों के हित साधने को लेकर हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों के बीच तकरार बढ़ रही है। अभी मनोहरलाल के सवाल कैप्‍टन अमरिंदर के जवाब पर भारी पड़ते दिख रहे हैं। किसानों को फायदा पहुंचाने को लेकर दोनों मुख्यमंत्रियों के अपने-अपने दावे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा हरियाणा के मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगे जाने के बाद दोनों राज्यों में यह तकरार तेज हुई है। एक के बाद एक आठ ट्वीट कर कैप्टन से आठ सवाल पूछने वाले मनोहर लाल ने किसान हित के मुद्दों पर पंजाब सरकार की घेराबंदी की है।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने मनोहर लाल के इन सवालों का जवाब तो दिया, लेकिन जानकारों को उनके जवाब में खास दम नजर नहीं आ रहा है। हरियाणा सरकार ने भी पंजाब सरकार के जवाबों को खारिज किया है। कैप्टन अमरिंदर व मनोहर लाल के बीच तकरार उस समय शुरू हुई, जब कैप्टन ने कहा कि करनाल मे किसान प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के लिए मनोहर लाल को हरियाणा के मुख्‍यमंत्री पद से इस्तीफा देना चाहिए। इसके जवाब में मनोहर लाल ने कहा कि कैप्टन मेरा इस्तीफा मांगने वाले कौन होते हैं, जिस तरह उन्होंने किसान संगठनों को आंदोलन के लिए उकसा रखा है, उसे देखते हुए तो इस्तीफा कैप्टन अमरिंदर सिंह को देना चाहिए।

मनोहर लाल यहीं नहीं रुके। उन्होंने सोमवार रात तो लगातार आठ ट्वीट किए और कैप्टन अमरिंदर से किसानों के हितों पर आठ ही अहम सवाल पूछे। कैप्टन ने मंगलवार को इन सवालों का जवाब दिया, लेकिन तथ्यों व दलीलों के आधार पर पंजाब पर हरियाणा के सवाल भारी पड़ते दिखाई दिए हैं। मनोहर लाल ने कैप्टन अमरिंदर से पहला सवाल पूछा था कि केंद्र सरकार गेहूं व धान की फसल ही एमएसपी पर खरीदती है। इन दोनों फसलों समेत हरियाणा 10 फसलें एमएसपी पर खरीदता है। पंजाब सरकार कितनी फसलें एमएसपी पर खरीदती है। कैप्टन ने इस सवाल का कोई जवाब अपने ट्वीट में नहीं दिया। मनोहर लाल का दूसरा सवाल था कि हरियाणा अपने राज्य के उन किसानों को सात हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि देता है, जो पानी की बचत की मंशा से धान की खेती छोड़ने को तैयार होते हैं। इसके जवाब में कैप्टन अमरिंदर ने सिर्फ इतना कहा कि पंजाब सरकार पानी की बचत के लिए बहुत गंभीर है।

मनोहर लाल ने अपने तीसरे सवाल में पंजाब से पूछा कि 72 घंटे से अधिक फसल की पेमेंट लेट होने पर क्या पंजाब अपने किसानों को हरियाणा की तरह  12 फीसद ब्याज देता है। इस सवाल पर कैप्टन का जवाब था कि हम चूंकि 72 घंटे के अंदर पूरी पेमेंट कर देते हैं, इसमें हमें किसानों को ब्याज देने की जरूरत ही नहीं पड़ती। मनोहर लाल ने अपने चौथे सवाल में कैप्टन से पूछा कि क्या पंजाब सरकार अपने किसानों को हरियाणा सरकार की तरह धान की सीधी बिजाई करने वाले किसानों को पांच हजार रुपये प्रति एकड़ देती है। इसके जवाब में कैप्टन ने कहा कि हम किसानों को रबी व खरीब की फसलों में करीब दो हजार करोड़ रुपये की प्रोत्साहन राशि दे चुके हैं। यह किस मद में है, यह पंजाब की ओर से स्पष्ट नहीं किया गया है।

हरियाणा सरकार ने अपने पांचवें सवाल में पंजाब सरकार से पूछा कि क्या हरियाणा की तरह पंजाब अपने किसानों को पराली प्रबंधन के लिए एक हजार रुपये प्रति एकड़ की दर से सहायता राशि देता है। इसके जवाब में पंजाब सरकार ने कहा है कि हरियाणा में किसानों के प्रति अत्याचार और अपराध बढ़ रहे हैं। मनोहर लाल ने छठे सवाल में कहा कि हरियाणा सरकार बागवानी फसलों को बढ़ावा दे रही और भावांतर भरपाई योजना के तहत किसानों को बाजार में होने वाले नुकसान की भरपाई करती है। इसके जवाब में कैप्टन ने कहा कि पंजाब सरकार मक्का और कपास की फसलों को प्रोत्साहित कर रही है। हरियाणा ने पंजाब से पूछा कि क्या आपके यहां गन्ने का कितना रेट है, क्योंकि हरियाणा सरकार पिछले सात साल से अपने राज्य के किसानों को देश में सबसे अधिक गन्ने का भाव उपलब्ध करा रही है। इसके जवाब में कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि हमने हरियाणा से ज्यादा रेट कर दिया है। बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा हरियाणा में अधिक रेट होने का मुद्दा होने के बाद पंजाब सरकार ने अपने यहां हाल में गन्ने के रेट बढ़ाए हैं।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

इस मामले में रामपाल को सुनाई तीन साल की सजा, पढिए पूरा मामला

Voice of Panipat

PANIPAT में अतिक्रमण के खिलाफ नपा चलाएगी अभियान, पढिए खबर

Voice of Panipat

निर्भया केस में 20 मार्च यानि कल फांसी का रास्ता साफ, डेथ वारंट पर रोक नहीं

Voice of Panipat