38 C
Panipat
June 24, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsPanipatPANIPAT NEWS

PANIPAT के SP ने अलग-अलग मामलों में 4 पुलिसकर्मियों को किया बर्खास्त

वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- पानीपत जिले के 4 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है जिनमें 1 एसआई, 1 एएसआई, 1 मुंशी और 1 सिपाही शामिल है। एसपी शशांक कुमार सावन ने कड़ा एक्शन लेते हुए चारों को तीन अलग-अलग मामलों में बर्खास्त किया गया है। वहीं, महकमे के सभी पुलिसकर्मियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि सभी इमानदारी से करें ड्यूटी, वरना कानून सभी के लिए बराबर है। कोताही करने वाले किसी भी पुलिसकर्मी को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। इधर, महकमे में इतनी बड़ी कार्रवाई होने के बाद जिले भर की पुलिस में यह बड़ा चर्चा का विषय बना हुआ है। अब हर पुलिसकर्मी बहुत ही सर्तकता से अपनी ड्यूटी को शत-प्रतिशत ईमानदारी से निवाह करने में जुटा हुआ है।

अब आपको पूरा मामला बताते हैं। सदर थाना के पूर्व प्रभारी एसआई सतबीर और थाने के मुंशी मुख्य सिपाही प्रदीप पर गांव निंबरी में शराब ठेकेदारों द्वारा जयकरण की अपहरण के बाद हत्या के मामले में गाज गिरी है। इतनी बड़ी वारदात में आरोपियों के खिलाफ समय पर कार्रवाई नहीं किए जाने पर और मिलीभगत कर मामले में समझौता करवाने की एवज में दोनों को बर्खास्त किया गया है। इस मामले की जांच एएसपी पूजा वशिष्ठ ने की थी जिसमें ये दोनों ही दोषी पाए गये हैं।

इसके साथ ही अशोक विहार कॉलोनी में रहने वाली एक महिला ने किला थाना पुलिस को शिकायत दी कि 26 मई की सुबह 11 बजे उसकी 22 वर्षीय बेटी का डाबर कॉलोनी के इरशाद ने अपहरण कर लिया है। इस साजिश में आरोपी की भाभी भी शामिल है। 27 मई को पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था। इस मामले में जांच अधिकारी किला थाने के एएसआई धर्मबीर निवासी इसराना अगली शाम आरोपी इरशाद के भाई के ससुर फैक्ट्री के खड्डी मास्टर विद्यानंद कॉलोनी के 55 वर्षीय अयुब को थाने लाया था। इरशाद के ठिकानों का पता पूछने लगे। एएसआई ने बुजुर्ग आयुब पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किया। उसे तपती गर्मी पर नग्न कर पीटा था। जिससे उसकी हालत बिगड़ी और उसे अस्पताल भर्ती करवाया गया। जहां उसकी मौत हो गई थी। आरोपी एएसआई धर्मबीर ने एक पक्ष से 10 हजार रुपए रिश्वत ली थी। इस मामले में आरोपी के खिलाफ हत्या समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। फिलहाल आरोपी जेल में बंद है। उसे एसपी ने बर्खास्त कर दिया।

शहर के सेक्टर 13-17 थाना क्षेत्र के रहने वाले एक प्रतिष्ठ व्यक्ति को किसी अज्ञात ने जान से मारने की धमकी दी थी। इस मामले में पीड़ित ने एसपी ने अपनी सुरक्षा की मांग की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने सिपाही पंकज को उसकी काबिलियत को देखते हुए पीड़ित की सुरक्षा में बतौर गनमैन लगा दिया। गनमैन लगने के दूसरे दिन ही पंकज ने अपनी वर्दी का रौब और किसी पर नहीं, ब्लकि पीड़ित पर ही दिखाना शुरु किया। सिपाही ने पीड़ित को ही प्रताड़ित करना शुरु किया। उससे शराब, सिगरेट, नॉनवेज आदि की मांग की। इतना ही नहीं, उसने शराब के नशे में पीड़ित से ही अभ्रदता करते हुए पिस्तौल दिखाई और जान से मारने की धमकी दी। इस मामले की शिकायत पीड़ित ने एसपी को सुबुत देते हुए की। सुबुतों के आधार पर एसपी ने जांच डीएसपी को सौंपी। डीएसपी की जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी ने तत्काल प्रभाव से गनमैन सिपाही पंकज को बर्खास्त कर दिया। अलग- अलग मामलों के चलते 4 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

पानीपत के लिए बड़ी खबर, कोरोना मुक्त हुआ पानीपत

Voice of Panipat

हरियाणा में बॉर्डर बंद करने का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, आज होगी सुनवाई

Voice of Panipat

1 जनवरी 2022 में होंगे कई बड़े बदलाव, पढिए खबर

Voice of Panipat