37.9 C
Panipat
June 14, 2021
Voice Of Panipat
Big Breaking News Haryana

हरियाणा सरकार ने स्वीकार की Rice Millers के धान घोटाले की गड़बड़ी

वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- हरियाणा में धान घोटाले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं, लगातार राइस मिलर्स के पास धान के स्टॉक की कमी मिल रही है। 2019 में 1207 मिलों के भौतिक सत्यापन में 42,589 मीट्रिक टन धान कम पाया गया था। वहीं, 2020 में 98 मिलों की जब जांच की गई, तो 18,884 मीट्रिक टन धान कम मिला । दरअसल, विधानसभा के मॉनसून सत्र के दौरान सरकार ने सदन पटल पर रखे दस्तावेजों में इसकी जानकारी दी है। असंध से कांग्रेसी विधायक समशेर गोगी ने सरकार से सवाल पूछा था, जिसके लिखित जबाव देते हुए सरकार ने राइस मिलर्स द्वारा की गई गड़बड़ी को स्वीकार किया।

वहीं, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री के नाते डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि 2019-20 में राइस मिलों में भंडारण किए गए धान में कमी की आशंका जताई थी। नवंबर-दिसंबर 2019 में विभागीय टीमों का गठन कर मिलों की जांच करवाई गई। जुलाई 2020 में सरकार ने उन मिलों की भौतिक जांच करवाई है, जिन्होंने 90 फीसद चावल वापस नहीं दिया था।

दुष्यंत के अनुसार नवंबर- दिसंबर 2019 की भौतिक जांच के दौरान 1207 चावल मिलों में 42589 मीट्रिक टन धान कम पाया गया। इसलिए मिलर्स से कम पाए गए स्टॉक की 76 करोड 19 लाख 33 हजार 196 रुपए रिकवरी की गई। जुलाई 2020 में हुई भौतिक जांच में 98 मिलों में 18894 मीट्रिक टन दान कम मिला है। सरकार इन मिलर्स से भी रिकवरी कर रही है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

सर्दियों में बढ़ेगा कोरोना वायरस का कहर, वैज्ञानिकों की चेतावनी

Voice of Panipat

हरियाणा में आज से उद्योगों के संचालन, किन सेवाओं व बिजनेस को मिली अनुमति, जानिए

Voice of Panipat

दिल्ली के इन इलाको में इंटरनेट किया गया बंद, ITO मेट्रो स्टेशन भी बंद

Voice of Panipat