43.8 C
Panipat
June 20, 2024
Voice Of Panipat
Big Breaking NewsCrimeHaryana CrimeLatest NewsPanipat Crime

Panipat के आढ़ती से फोन कर मांगी थी 10 लाख की रं*गदारी, 3 आरोपी गिरफ्तार, शॉर्टकट तरीके से कमाना चाहते थे पैसे

वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- काला जठेड़ी के नाम से आढ़ती को फोन कर 10 लाख की रंगदारी मांगने की वारदात का पर्दाफाश करते हुए सीआईए-टू पुलिस ने तीन आरोपियों को काबू करने में कामयाबी हासिल की। आरोपियों की पहचान अजय पुत्र सुशील, सनील उर्फ साहिल पुत्र बीर सिंह व अखिल पुत्र तेजबीर सिंह निवासी नौल्था पानीपत के रुप में हुई।

आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग किये 3 मोबाईल फोन बरामद

पुलिस अधीक्षक (SP) शशांक कुमार सावन ने इस बारे मे जानकारी देते हुए बताया की प्रारंभिक पुलिस पुछताछ में आरोपियों से खुलासा हुआ की तीनों ने सार्टकट तरीके से पैसे कमाने की योजना बनाई, आरोपी अखिल व सुनील पानीपत गऊशाला मंडी के आढ़ती देवेन्द्र को जानते थे। जो देवेन्द्र की दुकान पर फसल बेचते थे। दोनों को जानकारी थी की देवेन्द्र के पास काफी पैसे है। आरोपियों ने अजय के साथ मिलकर फोन में ऐप बनाकर 11जनवरी की साय देवेन्द्र को फोन कर काला जठेड़ी का नाम लेकर 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगने की वारदात को अंजाम दिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया की आरोपियों ने रंगदारी मांगने की उक्त वारदात में विदेशी ऐप का प्रयोग कर आढ़ती को रंगदारी के लिए कॉल किया था। इसलिए आरोपियों की पहचान करना थोड़ा मुश्किल था परंतु नामुमकिन नही। सीआईए-टू पुलिस की टीम ने निरंतर विभिन्न तकनीकी पहलुओं पर छानबीन करते हुए ऐप से संबंधित विदेशी कंपनियों से पुख्ता जानकारी जुटाकर आरोपियों को काबू किया।

रंगदारी की उक्त वारदात बारे देवेन्द्र उर्फ लीला पुत्र किशोरी लाल निवासी गऊशाला मंडी पानीपत ने 11 जनवरी को थाना चांदनी बाग में शिकायत देकर बताया था की साय करीब पौने 9 बजे उसके मोबाईल पर अज्ञात नंबर से कॉल आई। उसने फोन उठाया तो फोन पर बात कर रहे युवक ने धमकी दी की वह काला जठेड़ी बोल रहा है। कल तक 10 लाख रूपए का इंतजाम कर लेना नही तो उसको नजारे दिखा देगे। फोन कटने पर उसी समय के आसपास अज्ञात 3 नम्बरों से और कॉल आई जिनसे उसने बात नही की। देवेन्द्र की शिकायत पर तुरंत रंगदारी समेत धमकी देने की विभिन्न धाराओं के तहत थाना चांदनी बाग में मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई गई थी। वही मामला पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के संज्ञान में आते ही उन्होनें उक्त मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए आरोपियों की पहचान करने व धरपकड़ की जिम्मेवारी सीआईए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह व उनकी टीम को सौपी थी। सीआईए-टू पुलिस की टीम ने विभिन्न तकनीकी पहलुओ पर गहनता से छानबीन कर वारदात को सफलता पूर्वक सुलझाते हुए वीरवार साय आरोपी अजय पुत्र सुशील, सनील उर्फ साहिल पुत्र बीर सिंह व अखिल पुत्र तेजबीर सिंह निवासी नौल्था को गोहाना रोड नौल्था मोड़ से काबू करने में कामयाबी हासिल की।

पुलिस अधीक्षक ने बताया की फोन पर इस प्रकार का खौफ दिखाकर कुछ समय पहले नीरज बवाना गैंग का नाम लेकर पानीपत सैक्टर-25 निवासी आढ़ती संदीप से 25 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई थी। पानीपत पुलिस ने उक्त वारादात को भी 2 दिन के दौरान ही सफलता पूर्वक सुलझाते हुए आरोपी को काबू कर जेल की सलाखों के पीछे भेजने का काम किया था। एसपी शशांक कुमार सावन ने एक बार फिर कड़े शब्दो में कहा की जिले में अपराध व अपराधियों को किसी भी सूरत में पनपने नही दिया जाएगा। 

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

पानीपत रिफाइनरी कर्मचारी ने खूद को मारी गोली , गोली लगते ही…

Voice of Panipat

प्रेमी के साथ फरार हो रही थी बहन, भाई ने पीछा कर रोका तो गंवानी पड़ी जान

Voice of Panipat

एक लाख का रखा इनाम,ओलंपिक पहलवान सुशील कुमार भगौड़ा घोषित

Voice of Panipat