25.8 C
Panipat
November 28, 2021
Voice Of Panipat
Big Breaking News Haryana Haryana News Haryana Politics Politics

PM मोदी का लाइव कार्यक्रम देखने गए भाजपा नेताओं को मंदिर में बनाया बंधक, भारी पुलिस बल तैनात

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)- तीन कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार का किसानों द्वारा पूरजोर विरोध किया जा रहा है। इन दोनों राजनीतिक पार्टियों के हर तरह के कार्यक्रमों के विरोध का किसानों ने शुरूआती दिनों से ही आह्वान किया हुआ है। इसी क्रम में शुक्रवार को हरियाणा के रोहतक जिले के गांव किलोई में स्थित प्राचीन शिव मंदिर में बीजेपी के कई बड़े चेहरे पहुंचे।

इस बारे में जैसे ही किसानों को पता चला तो किसानों ने वहां पहुंचना शुरू कर दिया। मंदिर के अंदर अभी भाजपा उपाध्यक्ष पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर, संगठन मंत्री रविंद्र राजू, मेयर मनमोहन गोयल, जिला अध्यक्ष अजय बंसल, सतीश नांदल समेत रोहतक भाजपा के कई नेता और अनेक पदाधिकारी मौजूद है। बड़ी संख्या में मौके पर पहुंचे किसानों ने उन्हें मंदिर के अंदर ही कैद कर दिया। मौके पर भारी पुलिस दलबल मौजूद है। मौके पर डीएसपी मुख्यालय सज्जन सिंह भी मौजूद है। जो किसानों के साथ लगातार तालमेल बनाकर बीजेपी नेताओं को मंदिर से बाहर निकालने की कोशिशों में लगे हुए हैं।

उत्तराखंड में धार्मिक स्थल केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूजा दर्शन समेत कई शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रम का लाइव कार्यक्रम का प्रसारण प्रदेश के हर जिले के प्रमुख शिव मंदिर में चल रहा है। किलोई के प्राचीन शिव मंदिर में इस कार्यक्रम का प्रसारण किया जा रहा है। जिसमें शामिल होने भाजपा के ये सभी बड़े चेहरे पहुंचे थे। जिसके बाद किसानों को इसकी भनक लगी। भनक लगते ही चढूनी ग्रुप के किसान जिला अध्यक्ष राजू मकड़ौली ने सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल कर किसानों को जल्द से जल्द मौके पर पहुंचने की अपील की। मैसेज मिलते ही बड़ी संख्या में किसान इकट्‌ठे हुए। साथ में किलोई समेत आस-पास के ग्रामीण भी इकट्‌ठे होकर मौके पर पहुंच गए।

प्रदर्शन कर रहे किसानों ने मंदिर को चारों तरफ से घेर लिया। मंदिर से बाहर जाने वाले गांव के हर रास्ते पर अवरोधक लगा दिए। लगातार किसानों की संख्या मौके पर बढ़ती जा रही है। प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि मंदिर के अंदर बंद भाजपा के हर नेता को लोगों से यहां आने पर माफी मांगनी होगी। साथ ही ये नेता यह वायदा करेंगे की वे आइंदा जिले के किसी भी गांव में नहीं जाएंगे। इन दोनों बातों के बाद ही वे नेताओं को यहां से जाने देंगे, नहीं तो अंदर ही बंधक बने रहेंगे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Related posts

जहरीली शराब बनी मौत का कारण, परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप, पढिए पूरा मामला.

Voice of Panipat

छोटी उम्र में आधार कार्ड से बना सात जन्मों का बंधन, स्कूल रिकॉर्ड ने तोडे सपने.

Voice of Panipat

हरियाणा के CM खट्‌टर की प्रेस कॉन्फेंस, अपनी सरकार के 2500 दिनों की गिनाएंगे उपलब्धियां.

Voice of Panipat